Prabhat Prakashan, one of the leading publishing houses in India eBooks | Careers | Publish With Us | Dealers | Download Catalogues
Helpline: +91-7827007777

Swasthya Patrakarita   

₹400

In stock
  We provide FREE Delivery on orders over ₹1500.00
Delivery Usually delivered in 5-6 days.
Author Roopchand Gautam
Features
  • ISBN : 9789387968004
  • Language : Hindi
  • Publisher : Prabhat Prakashan
  • Edition : 1st
  • ...more

More Information about International Finance: Theory and Policy, 10th ed.

  • Roopchand Gautam
  • 9789387968004
  • Hindi
  • Prabhat Prakashan
  • 1st
  • 2018
  • 200
  • Hard Cover

Description

हिंदी में स्वास्थ्य पत्रकारिता की जितनी जरूरत है, वह उतनी ही उपेक्षित है। आवश्यक नहीं कि हर पत्रकार को डॉटर हो जाना चाहिए। लेकिन अखबारों और पत्रिकाओं में स्वास्थ्य को ठीक रखने की ठीक-ठीक एवं आधिकारिक जानकारियाँ छपनी चाहिए। पत्रकारिता का एक प्रमुख लक्ष्य यह भी है कि वह अपने पाठकों को शिक्षित करे, समय की चुनौतियों से दो-चार होने के लिए तैयार करे। इसलिए पाठकों को अपना स्वास्थ्य ठीक रखने तथा नई-पुरानी बीमारियों से निबटने की ताकत देने का काम पत्रकारिता को करना होगा।

यह सुखद संकेत है कि समाज में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए डॉटर्स सरल-सुबोध हिंदी भाषा में लिखने लगे हैं। कुछ डॉटर हिंदी चैनलों पर नियमित चर्चाओं में भाग भी लेने लगे हैं। यह स्वास्थ्य पत्रकारिता के विकास-पथ को प्रशस्त करने का प्रशंसनीय कदम है।

____________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________

अनुक्रम

भूमिका—5

आमुख—9

1. स्वास्थ्य पत्रकारिता : उद्भव और विकास—15

2. स्वास्थ्य पत्र-पत्रिकाओं का मूल्यांकन—25

3. रोग की अवधारणा एवं लक्षण—49

4. स्वास्थ्य के क्षेत्र में भोजन—65

5. चिकित्सा के क्षेत्र में पद्धतियाँ—79

6. विशिष्ट रोगों पर अनुसंधान—88

7. दिल्ली में मेडिकल संस्थान एवं अस्पताल—110

8. स्वास्थ्य बजट और इलाज—118

9. एंटीबायोटिक दवाएँ और जागरूकता—123

10. स्वास्थ्य और बीमा—128

11. स्वास्थ्य मेले, शिविर, कैंप, रैली—133

12. रोग के प्रति जागरूकता और स्वास्थ्य दिवस—141

13. हैंडबिल, पोस्टर, ब्रोशर, बुकलेट—149

14. स्वास्थ्य से संबंधित विज्ञापन—153

15. स्वास्थ्य के क्षेत्र में अंगदान—156

16. स्वास्थ्य और सर्वेक्षणात्मक कार्य—159

17. स्वास्थ्य पत्रकारिता की उपयोगिता—184

संदर्भ—196

The Author

Roopchand Gautam

रूपचंद गौतम

स्नातकोत्तर के बाद माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल से ‘दलित पत्रकारिता का दलित चेतना पर प्रभाव’ विषय पर शोधकार्य; भारतीय समाज विज्ञान अनुसंधान परिषद्, नई दिल्ली से ‘नई सदी में समाज पर स्वास्थ्य पत्रकारिता का प्रभाव’ विषय पर पोस्ट डॉटरल फेलोशिप; दिल्ली विश्वविद्यालय के डॉ. अंबेडकर कॉलेज एवं मिरांडा हाउस के अलावा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय में अध्यापन।

लोकायन संस्था द्वारा संचालित लोकायन लोकतंत्र फीचर सेवा, बहुजन अधिकार, सम्यक् भारत एवं हिंदी मासिक ‘बयान’ में सहायक संपादक के अलावा पिछले 26 वर्षों से स्वतंत्र पत्रकार के रूप में लेखन। आशुलिपि, टंकण, पत्रालेखन, प्रिंट व इलेट्रॉनिक मीडिया तथा पत्रकारिता विषयक लगभग बीस पुस्तकें प्रकाशित।

संपर्क : 228/9, मंडोली, दिल्ली-110093

दूरभाष : 09868414275

Customers who bought this also bought

WRITE YOUR OWN REVIEW