Mrs Funnybones

Mrs Funnybones   

Author: Twinkle Khanna
ISBN: 9789386300171
Language: Hindi
Edition: 1
Publication Year: 2016
Pages: 192
Binding Style: Hard Cover
Rs. 300
Inclusive of taxes
In Stock
Call +91-11-23289555
for assistance from our product expert.
Description

यह सब तब आरंभ हुआ, जब सरिता तँवर ने मुझसे पूछा कि क्या मैं उसके समाचार-पत्र के लिए एक मजाकिया साप्ताहिक स्तंभ लिखना चाहूँगी। उसने दो-टूक शब्दों में कहा, ‘तुम छिछोरे किस्म के चुटकुले सुनाती हो और लगातार पढ़ती ही रहती हो। मुझे पूरा यकीन है कि तुम लिख सकती हो।’
मैंने उसे समझाना चाहा कि लाखों लोग लगातार क्रिकेट का मैच देखते हैं तो इसका मतलब यह नहीं कि वे सभी इस खेल में भी माहिर होंगे। पर उसने मुझे टोकते हुए कहा कि कम-से-कम शुरुआत तो की जाए, उसके बाद जो होगा, देखा जाएगा।
मैं लेखन के बारे में सही मायने में क्या जानती हूँ? मेरी किशोरावस्था में लिखी गई एक अधूरी किताब की स्मृति आँखों के आगे कौंध गई। इसके साथ ही एक फाइल भी याद आई, जिसमें मौत और अपनी सनक से जुड़ी सारी भयानक कविताएँ दर्ज हैं। मेरे पूरे लेखन-अनुभव को इसमें ही सँजोया जा सकता है।

 

The Author
Twinkle Khanna

ट्विंकल खन्ना उर्फ मिसेज फनीबोन्स व्यंग्यात्मक कहानियों की रचनाकार हैं। जब डिजाइन बिजनेस चलाने, मोमबत्तियों की बिक्री करने या अपने परिवार के सर्किल में व्यस्त नहीं होतीं, तो मनोरंजक व विनोदप्रिय रचनाएँ तैयार करती हैं। जिस समय बॉलीवुड जगत् उन्हें कम करके आँक रहा था, उस समय उन्होंने फैसला लिया और बिना कोई नुकसान उठाए चकाचौंध की इस दुनिया से बचकर निकल गईं। 
वे टाइम्स ऑफ इंडिया तथा डी.एन.ए. आफ्टर आवर्स की लोकप्रिय स्तंभकार हैं। इस समय वे गुदगुदाने और हँसानेवाले चुटकुले बनाती हैं, जैसे ‘हिंदू लड़के अपनी माँ की पूजा क्यों करते हैं?’ क्योंकि उनके धर्म में बताया गया है कि गाय हमारी माता है। उनका दृढ विश्वास है कि जिंदगी में हँसी के अलावा और कोई पवित्र या शुद्ध चीज नहीं है।

 

Reviews
Copyright © 2017 Prabhat Prakashan
Online Ordering      Privacy Policy