Main Amit Shah Bol Raha Hoon

Main Amit Shah Bol Raha Hoon   

Author:
ISBN: 9789351862543
Language: Hindi
Publisher: Prabhat Prakashan
Edition: 1st
Publication Year: 2015
Pages: 120
Binding Style: Hard Cover
Rs. 150
Inclusive of taxes
In Stock
Call +91-11-23289555
for assistance from our product expert.
Description

अमित शाह भाजपा के अब तक के सबसे सफल रणनीतिकार हैं। वे लगातार भाजपा की जीत की पटकथा लिख रहे हैं। कोई उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘तुरुप का पत्ता’ कहता है तो कोई भाजपा का ‘चाणक्य’। जहाँ भाजपा कमजोर है, उन राज्यों में पार्टी का कोने-कोने तक विस्तार ही उनका इकलौता मिशन है। अमित शाह राजनीति के रसायनशास्त्र से वाकिफ हैं। वे खाँटी स्वयंसेवक हैं, पर विचारधारा में पगे कठमुल्ला नहीं। सफलता के लिए साम, दाम, दंड, भेद उनके औजार हैं। चुनावी रणनीति में मर्यादा उनके आड़े नहीं आती। इसे इत्तेफाक ही कहेंगे कि गुजरात विश्वविद्यालय के केमिस्ट्री के इस छात्र को राजनीति और समाज की केमिस्ट्री बूझना आता है। उत्तर प्रदेश में भाजपा की कामयाबी से तो यही लगता है। अमित शाह भाजपा के महानायक साबित हो रहे हैं। उनकी हिम्मत, निजी सोच और जोखिम लेने का जज्बा उनकी संभावनाओं को अंतहीन बनाता है। यह पुस्तक अमित शाह के कुछ साक्षात्कारों का संकलन है; जिनसे उनकी वैचारिक प्रतिबद्धता, संगठन-कौशल और देशराग का अनुमान हो पाएगा।

 

22 अक्तूबर, 1964 को जनमे अमित शाह संगठनात्मक कौशल और सफल रणनीतिकार के रूप में पहचाने जाते हैं। मात्र 14 वर्ष की आयु में वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संपर्क में आए और स्वयंसेवक बन गए। 1982 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के माध्यम से छात्र-राजनीति में सक्रिए हुए। तदनंतर भारतीय जनता युवा मोर्चा, फिर भारतीय जनता पार्टी में महत्त्वपूर्ण दायित्वों के साथ-साथ 1995 में गुजरात स्टेट फाइनेंशियल कॉरपोरेशन के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष चुने गए और लगातार घाटे में चल रहे बैंक को मुनाफे में ला दिया। आपकी शतरंज में विशेष रुचि है, इसलिए आप में धैर्य, रणनीति-संयोजन के गुण हैं। आप गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रहे।

गुजरात में केशुभाई पटेल और नरेंद्रभाई मोदी की सरकारों में अनेक महत्त्वपूर्ण मंत्रालयों के मंत्री रहे तथा अपनी कार्यदक्षता के बल पर अभूतपूर्व सफलता पाई। 2014 में लोकसभा के चुनावों में भाजपा की विजय के वास्तुकार रहे। संप्रति आप भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के दायित्व का निर्वहन बखूबी कर

रहे हैं।

The Author
Reviews
You have an error in your SQL syntax; check the manual that corresponds to your MySQL server version for the right syntax to use near ') and bookid!='2215'' at line 1